0522-4300890 | info@myfestival.online

About Festivals


आज मानव बहुत व्यस्त है। जीविका कमाने में समय व्यतीत करना उसकी मजबूरी है। इस भाग दौड़ में वह भूल जाता है कि वह इंसान है, मशीन नहीं। उसे आराम चाहिये, मनोरंजन और बदलाव उसकी जरूरत है। ऐसे में नित नये त्योहार उसके लिये वरदान साबित होते हैं। त्योहार जीवन में सुखद परिवर्तन लाते हैं उसमें नई चेतना व स्फूर्ति का संचार करते हैं।

विज्ञान की उन्नति के साथ मानव चाँद पर जा पहुँचा है। त्योहार उसके बौद्धिक विकास के साथ साथ उसमें भावनात्मक विकास करते हैं। भारत के त्योहार करूणा, दया, आतिथ्य सत्कार, पारस्परिक प्रेम एवं सद्भावना तथा परोपकार जैसे नैतिक गुणों का विकास करने से सहायक होते हैं।

भारत त्योहारों का देश है :

भारत त्योहारों का देश है। भारत में भिन्न भिन्न धर्म एवं जाति संप्रदाय के लोग निवास करते हैं। भारत के त्योहार इसकी संस्कृति की महानता को उजागर करते हैं। भिन्न भिन्न जातियों, भाषाओें, प्रातों व भिन्न भिन्न सम्प्रदायों द्वारा एक साथ त्योहार मनाने से पारस्परिक सौहार्द एवं स्नेह की भावनायें पुनजींवित होती हैं। हमारे त्योहार अधिकतर ऋतु चक्र के अनुसार मनाये जाते हैं। सभी त्योहार जनमानस को खुशियाँ, उल्लास व उत्साह प्रदान करते हैं।

Read More